"मनुस्मृती" में क्या कहा हैं…

 पुत्री,पत्नी,माता या कन्या,युवा,व्रुद्धा किसी भी स्वरुप में नारी स्वतंत्र नही होनी चाहिए. मनुस्मृती: अध्याय-९ श्लोक-२ से ६ तक. २- पति

Continue reading"मनुस्मृती" में क्या कहा हैं…